“पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य 

81 / 100

 पवित्र आत्मा के 33 अद्भुत कार्य 

1. पवित्र आत्मा के 33 अद्भुत कार्य
2. “पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य: 33 अद्भुत कार्य जो परमेश्वर का “पवित्र आत्मा” हमारे लिये करता है

परमेश्वर के“पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य, हमारे लिये परमेश्वर की कृपा को दर्शाते हैं,  हमारे लिये जो कार्य प्रभु करता है, उनके निमित्त हमें हमेशा शुक्रगुजार बने रहना चाहिये।

 “पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य 
“पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य

 

 “पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य: 33 अद्भुत कार्य जो परमेश्वर का “पवित्र आत्मा” हमारे लिये करता है

 (1) HE HELPS US (वो हमारी सहायता करता है)

  • ”इसी रीति से आत्मा भी हमारी दुर्बलता में सहायता करता है, क्योंकि हम नहीं जानते, कि प्रार्थना किस रीति से करना चाहिए;
  • परन्तु आत्मा आप ही ऐसी आहें भर भरकर जो बयान से बाहर है, हमारे लिये बिनती करता है”। रोमियो 8:26

(2) HE GUIDES US  (वह हमारा मार्गदर्शन करता है)

  • ”मैं ने ये बातें तुम से इसलिये कही हैं, कि तुम्हें मुझ में शान्ति मिले; संसार में तुम्हें क्लेश होता है,
  • परन्तु ढाढ़स बांधो, मैं ने संसार को जीत लिया है”॥ यूहन्ना 16:33

(3) HE TEACHES US ( वो हमें सिखाता है)

  • ”परन्तु सहायक अर्थात पवित्र आत्मा जिसे पिता मेरे नाम से भेजेगा, वह तुम्हें सब बातें सिखाएगा,
  • और जो कुछ मैं ने तुम से कहा है, वह सब तुम्हें स्मरण कराएगा”। यूहन्ना 14:26

 

33 अद्भुत कार्य जो परमेश्वर का “पवित्र आत्मा” हमारे लिये करता है

(4) HE SPEAKS US ( वो हमसे बोलता है)

  • ”जिस के कान हों, वह सुन ले कि आत्मा कलीसियाओं से क्या कहता है:
  • जो जय पाए, मैं उसे उस जीवन के पेड़ में से जो परमेश्वर के स्वर्गलोक में है, फल खाने को दूंगा”॥ प्रकाशित वाक्य 2:7

(5) HE REVEALS US ( हमपर प्रगट करता है / जाहिर करता है

  • “परन्तु परमेश्वर ने उन को अपने आत्मा के द्वारा हम पर प्रगट किया;
  • क्योंकि आत्मा सब बातें, वरन परमेश्वर की गूढ़ बातें भी जांचता है”। 1 कुरिन्थियों 2:10

33 अद्भुत कार्य जो परमेश्वर का “पवित्र आत्मा” हमारे लिये करता है

(6) HE INSTRUCTS US (वो हमें निर्देश देता है )

  • ” तब आत्मा ने फिलेप्पुस से कहा, निकट जाकर इस रथ के साथ हो ले”। प्रेरितों के काम 8:29

(7) HE TESTIFIES OF JESUS ( यीशु की गवाही देता है )

  • “परन्तु जब वह सहायक आएगा, जिसे मैं तुम्हारे पास पिता की ओर से भेजूंगा,
  • अर्थात सत्य का आत्मा जो पिता की ओर से निकलता है, तो वह मेरी गवाही देगा”। यूहन्ना 15:26

(8) HE COMFORTS US ( सांत्वना/ आराम देता है)

  • ” सो सारे यहूदिया, गलील, और समरिया में कलीसिया को चैन मिला, और उसकी उन्नति होती गई;
  • वह प्रभु के भय और पवित्र आत्मा की शान्ति में चलती और बढ़ती जाती थी”॥ प्रेरितों के काम 9:31

(9) HE CALLS US  ( वो हमें बुलाता है )

  • जब वे उपवास सहित प्रभु की उपासना कर रहे था, तो पवित्र आत्मा ने कहा;
  • मेरे निमित्त बरनबास और शाऊल को उस काम के लिये अलग करो जिस के लिये मैं ने उन्हें बुलाया है। प्रेरितों के काम 13:2

(10) HE FILLS US  ( हमें भरता है )

  • जब वे प्रार्थना कर चुके, तो वह स्थान जहां वे इकट्ठे थे हिल गया,
  • और वे सब पवित्र आत्मा से परिपूर्ण हो गए, और परमेश्वर का वचन हियाव से सुनाते रहे॥ प्रेरितों के काम 4:31

(11) HE STRENGTHENS US ( वो हमें बल / शक्ति देता है )

  • इफिसियों 3:16

(12) HE PRAYS FOR US ( वो हमारे लिये प्रार्थना करता है )

  • इसी रीति से आत्मा भी हमारी दुर्बलता में सहायता करता है, क्योंकि हम नहीं जानते, कि प्रार्थना किस रीति से करना चाहिए;
  • परन्तु आत्मा आप ही ऐसी आहें भर भरकर जो बयान से बाहर है, हमारे लिये बिनती करता है। रोमियो 8:26

(13) HE PROPHESIED THROUGH US ( हमारे लिये / हमारे द्वारा भविष्य वाणी करता है )

  • प्रकाशित वाक्य 22:17

33 अद्भुत कार्य जो परमेश्वर का “पवित्र आत्मा” हमारे लिये करता है

(14) HE BEARS WITNESS TO THE TRUTH ( सत्य की गवाही / साक्षी देता है )

  • मैं मसीह में सच कहता हूं, झूठ नहीं बोलता और मेरा विवेक भी पवित्र आत्मा में गवाही देता है। रोमियो 9:1

(15) HE BRINGS JOY  ( आनंद देता है )

  •  तुम बड़े क्लेश में पवित्र आत्मा के आनन्द के साथ वचन को मान कर हमारी और प्रभु की सी चाल चलने लगे। 1 थिस्सलुनीकियों 1:6

(16) HE BRINGS FREEDOM ( स्वतंत्रता देता है)

  • प्रभु तो आत्मा है: और जहां कहीं प्रभु का आत्मा है वहां स्वतंत्रता है। 2 कुरिन्थियों 3:17

(17) HE HELPS TO OBEY ( आज्ञाकारी होने के लिये सहायता करता है )

  • सो जब कि तुम ने भाईचारे की निष्कपट प्रीति के निमित्त सत्य के मानने से अपने मनों को पवित्र किया है,
  • तो तन मन लगा कर एक दूसरे से अधिक प्रेम रखो। 1 पतरस 1:22

(18) HE CALLS US FOR JESUS RETURN ( यीशु के पुनरागमन के लिये बुलाता है)

  •  आत्मा, और दुल्हिन दोनों कहती हैं, आ, और सुनने वाला भी कहे, कि आ,
  • और जो प्यासा हो, वह आए, और जो कोई चाहे वह जीवन का जल सेंतमेंत ले॥ प्रकाशित वाक्य 22:17

 “पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य 

(19) HE TRANSFORMS US ( रूपान्तरण करता है )

  • परन्तु जब हम सब के उघाड़े चेहरे से प्रभु का प्रताप इस प्रकार प्रगट होता है,
  • जिस प्रकार दर्पण में, तो प्रभु के द्वारा जो आत्मा है, हम उसी तेजस्वी रूप में अंश अंश कर के बदलते जाते हैं॥ 2 कुरिन्थियों 3:18

(20) HE LIVES IN US ( हम में जीवित रहता है / निवास करता है )

  • क्या तुम नहीं जानते, कि तुम परमेश्वर का मन्दिर हो, और परमेश्वर का आत्मा तुम में वास करता है? 1 कुरिन्थियों 3:16

(21) HE FREES US  ( हमें छुड़ाता / आज़ाद करता है )

  • क्योंकि जीवन की आत्मा की व्यवस्था ने मसीह यीशु में मुझे पाप की, और मृत्यु की व्यवस्था से स्वतंत्र कर दिया। रोमियो 8:2

(22) HE RENEWS US ( नया बनाता है)

  • तो उस ने हमारा उद्धार किया: और यह धर्म के कामों के कारण नहीं, जो हम ने आप किए,
  • पर अपनी दया के अनुसार, नए जन्म के स्नान, और पवित्र आत्मा के हमें नया बनाने के द्वारा हुआ। तीतुस 3:5

 “पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य 

(23) HE PRODUCES FRUIT IN US ( हम में आत्मिक फल लगाता है)

  • आत्मा का फल प्रेम, आनन्द, मेल, धीरज, और कृपा, भलाई, विश्वास, नम्रता, और संयम हैं;
  • ऐसे ऐसे कामों के विरोध में कोई भी व्यवस्था नहीं। गलातियों 5:22,23

(24) HE GIVES GIFTS ( आत्मिक दान- वरदान देता है )

  • क्योंकि एक को आत्मा के द्वारा बुद्धि की बातें दी जाती हैं; और दूसरे को उसी आत्मा के अनुसार ज्ञान की बातें। 1 कुरिन्थियों 12:8

(25) HE LEADS US ( हमारा नेतृत्व करता है )

  • इसलिये कि जितने लोग परमेश्वर के आत्मा के चलाए चलते हैं, वे ही परमेश्वर के पुत्र हैं। रोमियो 8:14

(26) HE CONVICTS US ( हमारे बचाता है )

  • और वह आकर संसार को पाप और धामिर्कता और न्याय के विषय में निरूत्तर करेगा। यूहन्ना 16:8

“पवित्र आत्मा” के 33 अद्भुत कार्य 

(27) HE SANCTIFIED US  ( हमारे लिये बलिदान हुआ )

  • पर हे भाइयो, और प्रभु के प्रिय लोगो चाहिये कि हम तुम्हारे विषय में सदा परमेश्वर का धन्यवाद करते रहें,
  • कि परमेश्वर ने आदि से तुम्हें चुन लिया; कि आत्मा के द्वारा पवित्र बन कर, और सत्य की प्रतीति करके उद्धार पाओ। 2 थिस्सलुनीकियों 2:13

(28) HE EMPOWERS US ( हमें सामर्थ देता है)

  • प्रेरितों के काम 1:8

(29) HE UNITES US ( हमें एक करता है / जोड़ता है) इफिसियों 4:3-4

(30) HE SEALS US  ( हम पर मुहर / छाप कर देता है )

  •  उसी में तुम पर भी जब तुम ने सत्य का वचन सुना, जो तुम्हारे उद्धार का सुसमाचार है,
  • और जिस पर तुम ने विश्वास किया, प्रतिज्ञा किए हुए पवित्र आत्मा की छाप लगी। इफिसियों 1:13

(31) HE GIVES US ACCESS TO THE FATHER ( पिता परमेश्वर के सामने जाने योग्य बनाता है)  

  • इफिसियों 2:18

(32) HE ENABLES US TO WAIT ( हमारे लिये हमेशा इन्तज़ार में उपयुक्त/ उपस्थित है)

  • गलातियों 5:5

(33) HE CASTS OUT DEMONS  ( दुस्टात्मा से छूट कारा देता है/ दुष्ट आत्माओं को नष्ट करता है )

  • मत्ती 12:28

https://youtu.be/UdQ7ZX8eiJA

   “PARAM PITA KI HAM STUTI GAAYEN” HINDI CHRISTIAN SONG WITH LYRICS 

http://optimalhealth.in/7-messages-from-bible-for-spiritual-growth/