INTERPERSONAL RELATIONSHIP

INTERPERSONAL RELATIONSHIP INTERPERSONAL RELATIONSHIP. A strong bond between two or more people refers to interpersonal relationships. The attraction between individuals brings them close to each other and eventually results in a strong interpersonal relationship. “Success is a journey and it is not the destination. Disappointments, Rejections, Unsuccessful attempts, and Criticisms are not failures to the … Read more

दया शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ आता है? परमेश्वर अति दयावान है।

दया शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ आता है? परमेश्वर अति दयावान है।

दया शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ आता है? परमेश्वर अति दयावान है। दया शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ आता है? परमेश्वर अति दयावान है। यहोवा की दया उस पर थी: और उसको निकाल कर नगर के बाहर कर दिया।उत्पत्ति 19:16। और सर्वशक्तिमान ईश्वर उस पुरूष को तुम पर दयालु करेगा, जिस से कि वह तुम्हारे दूसरे भाई को और … Read more

SELF ESTEEM: HIGH OR POSITIVE SELF ESTEEM V/S LOW SELF ESTEEM

SELF ESTEEM: HIGH OR POSITIVE SELF ESTEEM V/S LOW SELF ESTEEM

SELF ESTEEM: HIGH OR POSITIVE SELF ESTEEM V/S LOW SELF ESTEEM SELF ESTEEM: HIGH OR POSITIVE SELF ESTEEM V/S LOW SELF ESTEEM. DEFINITION: Self-esteem is how we value ourselves; it is how we perceive our value to the world and how valuable we think we are to others. Self-esteem affects our trust in others, our … Read more

यीशु का पहाड़ी उपदेश

यीशु का पहाड़ी उपदेश

यीशु का पहाड़ी उपदेश यीशु का पहाड़ी उपदेश। यीशु भीड़ को देखकर, पहाड़ पर चढ़ गया; और जब बैठ गया तो उसके चेले उसके पास आए। (मत्ती 5:1)। यीशु वहां से चलकर, गलील की झील के पास आया, और पहाड़ पर चढ़कर वहां बैठ गया। (मत्ती 15:29)।  फिर वह पहाड़ पर चढ़ गया, और जिन्हें वह चाहता था … Read more

‘रोटी’ शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ पाया जाता है? जीवन की रोटी मैं हूं।

'रोटी' शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ पाया जाता है? जीवन की रोटी मैं हूं।

‘रोटी’ शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ पाया जाता है? जीवन की रोटी मैं हूं।  ‘रोटी’ शब्द बाइबल में कहाँ-कहाँ पाया जाता है? जीवन की रोटी मैं हूं। यीशु अपने चेलों से बातें करते हुये कहते हैं जीवन की रोटी मैं हूँ। (यहून्ना 6:48), यह वह रोटी है जो स्वर्ग से उतरती है ताकि मनुष्य उस में … Read more

विश्वास से चंगाई और सेवकाई

विश्वास से चंगाई और सेवकाई

विश्वास से चंगाई और सेवकाई विश्वास से चंगाई और सेवकाई। यदि आज चंगाई का सुसमाचार नहीं है, तो हममें से किसी के पास उद्धार का सुसमाचार प्रचार करने के लिए नहीं है क्योंकि चंगाई प्रायश्चित में शामिल है (यशा. 53:4,5)। शारीरिक उपचार – ईश्वरीय उपचार – सुसमाचार का एक हिस्सा है। पीसी नेल्सन एक महान बैपटिस्ट … Read more