CARRIER WELLNESS: वित्तीय संपन्नता

CARRIER WELLNESS: वित्तीय संपन्नता

1. CARRIER WELLNESS: वित्तीय संपन्नता

CARRIER WELLNESS: वित्तीय संपन्नता-जब आपको एक विजन क्लियर होता है (आपका एक दर्शन क्लियर होता है) तब जाकर के आप सही रास्ते पर चल सकते हैं क्योंकि अगर आपका दर्शन क्लियर नहीं है आपको यदि नहीं मालूम कि आपको कहां जाना है; तो आप कैसे जान पाएंगे कि किस चीज के लिए काम करेंगे ? कैसे ? क्योंकि जब तक आप को यह ना पता हो कि आपको करना क्या है आपको पहुंचना का है इसलिए अपने दर्शन को आप हमेशा याद रखें और अपने दर्शन को सामने रखें अपने दर्शन को मस्तिष्क पर रखें अपने दर्शन को लिख ले और अपने दर्शन के हिसाब से आप आगे बढ़े और अपने जीवन के अंदर आप तरक्की को देखेंगे।

 दर्शन (Vision) / लक्ष्य (Goal) / Why क्यों ?/ AIM उद्देश्य/ Dream सपना

  • दर्शन के लगातार खोजी बने रहो! क्योंकि यहोवा धर्मी है, वह धर्म के ही कामों से प्रसन्न रहता है; धर्मी जन उसका दर्शन पाएंगे॥ भजन संहिता 11:7
  • मैं तो धर्मी होकर तेरे मुख का दर्शन करूंगा जब मैं जानूंगा तब तेरे स्वरूप से संतुष्ट हूंगा॥ भजन संहिता 17:15
  • धर्मी  लोग उसके खोजी हैं, वे तेरे दर्शन के खोजी याकूब वंशी हैं॥ भजन संहिता 24:6

  •  परमेश्वर ने कहा है, कि मेरे दर्शन के खोजी हो। इसलिये मेरा मन तुझ से कहता है, कि हे यहोवा, तेरे दर्शन का मैं खोजी रहूंगा। भजन संहिता 27:8
  •  परमेश्वर उन्हें दर्शन देने के गुप्त स्थान में मनुष्यों की बुरी गोष्ठी से गुप्त रखेगा; उन को अपने मंडप में झगड़े-रगड़े से छिपा रखेगा॥ भजन संहिता 31:20

 हे मेरे प्राण, तू क्यों गिरा जाता है? और तू अन्दर ही अन्दर क्यों व्याकुल है?

96 VERSES ABOUT VISION FROM THE BIBLE | बाइबल से दर्शन विषय पर 96 पद

परमेश्वर पर विश्वास रखते हुये कार्य योजना

जब आप अपना लक्ष्य निर्धारित कर लेते हैं, और अपने लक्ष्य के ऊपर विश्वास करके चलते हैं तब हमें इस बात का यकीन हो जाता है कि हां हम जिस काम को करने जा रहे हैं उसमें हम सफल होंगे, उस काम को करने के लिए हमको कार्य करना होता है, उसे पूरी तौर से समर्पित होकर के हंड्रेड परसेंट कड़ी मेहनत और निरंतर प्रयास के साथ उस काम को करते हैं तो सफलता मिल जाती है । उद्देश्य के साथ जीना चाहिए । 

CARRIER  WELLNESS: (वित्तीय स्वास्थ्य या संपन्नता)

हम दूसरों के लिए ऐसा काम करते हैं कि उनका भला हो तो हमारा भला अपने आप हो जाता है

हमारी जिंदगी के अंदर हमको ऐसी सेवाओं को चुनना है जिसके द्वारा हम दूसरों की सहायता कर सकें ना कि केवल हम और स्वार्थी हो करके केवल अपना भला चाहे तो हमें ऐसी ही सेवाओं के बारे में सोचना चाहिए जहां पर हम दूसरों का भला कर सके उनकी मदद कर सके। उनकी संतुष्टि के लिए उनके लिए काम कर सकें और परमेश्वर हमें आशीष देते हैं, आनंदित करता है जैसा हम बोते हैं वैसा ही हम काटेंगे। जो हम देंगे हम उसके ही बदले में प्रतिफल पाएंगे , तो हम बेहतर दें हम अपने जीवन का जो अच्छा समय है अपने जीवन का जो सही एनर्जी है जो सब कुछ सच्चे मन से करें ।

CARRIER  WELLNESS: (वित्तीय स्वास्थ्य या संपन्नता)

जब हम अपनी सेवा की स्थिति में सही तरीके से चलते हैं तो हम हमेशा पुरस्कृत होते हैं,

पुरस्कारों में मिलते हैं हम नए-नए कीर्तिमान स्थापित करते हैं, हम नए-नए कीर्तिमान बनाते हैं तो हम पुरस्कृत होने हैं, हमें उन छोटी-छोटी खुशियों को लोगों के साथ बांटना है । उन खुशियों में हमको जश्न मनाना है, क्योंकि हर एक छोटी खुशी हमारे जीवन के अंदर और नई उमंग भर देती है जिससे हम अपने जीवन के अंदर अधिक ऊर्जावान हो कर कार्य कर सकते हैं।

WHAT IS WELLNESS ? 7 ELEMENTS OF WELLNESS.

किसी बात की चिंता ना करें 

“क्योंकि परमेश्वर ने हमें भय की नहीं पर सामर्थ्य, और प्रेम, और संयम की आत्मा दी है”।2 तीमुथियुस 1:7

परमेश्वर का मार्गदर्शन:

आज्ञा का सारांश यह है, कि शुद्ध मन और अच्छे विवेक, और कपट रहित विश्वास से प्रेम उत्पन्न हो। 1 तीमुथियुस 1:5

हमें हमेशा परमेश्वर के मार्गदर्शन की आवश्यकता रहती है, परमेश्वर हमारा मार्गदर्शक है हमें रास्ता दिखाता है। 

परमेश्वर अपने वचन/ शब्द के द्वारा बातचीत करता है

ASK  = A फॉर एटीट्यूड

परमेश्वर से मांगे विश्वास के साथ मांगे हमारा रवैया विश्वासी वाला रवैया होना चाहिए विश्वास पूर्ण हमारा जीवन होना चाहिए बस हमारी जॉब रिया है हमारा वह पॉजिटिव होना चाहिए सकारात्मक होना चाहिए तो हमारा एटीट्यूड हमेशा सकारात्मक हो विश्वासी हो फिर एस एस सी सी मतलब एस्से स्किल के लिए हमको सीखना है पर उनके बोला हट उनके उद्देश्य की खोज के लिए हमें सीखना है और हम कहां से सीखेंगे।

कभी-कभी इंस्टिट्यूट से सीखना है, कभी किताबों से सीखना है, हम कभी चर्च से सीखते हैं, कभी अपने बड़ों से सीखते हैं;

और हम इसी तरीके से आगे बहुत सारी चीजों में आगे सीखते हुए आगे बढ़ जाते हैं और फिर है कालेज ज्ञान हासिल करना है ,ज्ञान हमारे सीखने से आता है, पढ़ने से आता है, सुनने से आता है और जैसे-जैसे हम थोड़ा आगे बढ़ते हैं, बड़े होते रहते हैं और हमारा ज्ञान बढ़ता रहता है।

ईश्वरीय मार्गदर्शन के अनुसार जब हम चल रहे होते हैं,

रोमियों की पुस्तक में लिखा हुआ है; कि जो लोग परमेश्वर से प्रेम रखते हैं, उनके लिए सब बातें मिल का भलाई ही को उत्पन्न करती हैं और जो इस बात का विश्वास करते हैं कि हमारे लिए जो कुछ हो रहा है हमारे भले के लिए हो रहा है और हम आशा करते हैं कि जो हमारे साथ होगा वह हमारे भला होगा, सच में हमारा मन जो है वह ईश्वरीय मार्गदर्शन में चलता है और हम सफलता की राह पर आगे बढ़ते रहते हैं। हमें एक योद्धा की तरह होना चाहिए, हम एक दौड़ दौड़ रहे हैं,

Great Views Of Anthony Robbins, Lincoln, & Einstein (In Hindi)

https://www.careerwill.com/

दर्शन के विषय पर बाइबल आधारित 90 से भी ज्यादा पद और संदर्भ