चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY FAITH & HEALING

चंगाई के लिए बाइबिल पद (200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING)

चंगाई के लिए बाइबिल पद (200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING)

1. चंगाई के लिए बाइबिल पद (200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING)

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING. अक्सर यीशु मसीह के काम और ईश्वर में विश्वास के माध्यम से चमत्कारी उपचार के विषय में बताती है। हमारे परमेश्वर आपके और आपके प्रियजनों के लिए आराम और चिकित्सा प्रदान करने में सक्षम हैं।बाइबिल से चंगाई के लिए प्रार्थना करेंअगर कोई बीमार है, तो प्रार्थना और उपचार के द्वारा रोगी चंगा हो जाएगा । चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING. ATTITUDE OF GRATITUDE

परमेश्वर आपके  स्वास्थ्य को पुनर्स्थापित करता है, पाप, दुर्व्यवहार, उपेक्षा, अस्वीकृति, विश्वासघात,

  • ये सभी बहुत ही भावनात्मक और आध्यात्मिक दर्द का कारण बनते हैं जो शारीरिक दर्द को चोट पहुंचाते हैं।
  • परमेश्वर, हमारे महान चिकित्सक पूरी तरह से हमारे टूटे हुए दिलों को ठीक कर सकते हैं,
  • और हमारे घावों को ठीक कर सकते हैं, उपचार कर सकते हैं और हमें पूरी तरह से बना सकते हैं।
  • आध्यात्मिक और भावनात्मक उपचार अक्सर कदमों के साथ एक प्रक्रिया है जिसके लिए हमें कार्रवाई करने की आवश्यकता होती है।
  • पूर्ण पुनर्प्राप्ति की ओर अपने दिल और दिमाग का मार्गदर्शन करने के लिए निम्नलिखित बाइबल पदों का उपयोग करें ।

MERCY, FAITH & HEALING BIBLE VERSES | चंगाई के लिए बाइबिल पद

  • जब आप स्वास्थ्य समस्याओं, बुरी खबरों, या संबंधों के संघर्ष से अभिभूत होते हैं, तो परमेश्वर का वचन आपके लिए अलौकिक सहायता का स्रोत हो सकता है।

हार मत मानो!

  • परमेश्वर हमें  अपने भंडार से अधिक से अधिक चीजों के देने का वादा करते हैं – एक अच्छा भविष्य जो आशा से भरा हुआ है, उसको देने का  वादा  करते हैं !
  • उपचार पर शास्त्रों का यह संग्रह आपको ईश्वर की उपचार शक्ति पर ध्यान केंद्रित करने के लिए प्रोत्साहन, शक्ति और आराम प्रदान करेगा।
  • चंगाई पर बाइबिल के पद , इन्हें याद  कर लें और दिन भर कहते रहें , याद रखें , लिख लें और अपने साथ रखें,
  • और अपने बेडशीट की तरह अपने पास रखें और अपने आप को चंगाई की शांति, आराम और शक्ति की याद दिलाएं ।
This image has an empty alt attribute; its file name is restoration. Jpg
BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

परमेश्वर से प्रार्थना करना, BIBLE VERSES 

  • अपने वादों और प्रावधानों पर ध्यान देने का एक बढ़िया तरीका है।
  • आप अपने जीवन, बीमारी, और अपने प्रियजनों पर इन बाइबिल के पदों को ज़ोर से बोलते हुए प्रार्थना कर सकते हैं। 
  • इसके अलावा, यहाँ उपचार के लिए एक छोटी प्रार्थना है जिसका उपयोग आप कर सकते हैं:
  • पिता, मुझे अपना ध्यान आप पर रखने में मदद करें जब दर्द और चोट भारी हो।
  • मुझे विश्वासयोग्य होने और मुझे घेरने वाले अच्छे और आशीर्वादों को देखने में मदद करें।
  • कृपया मेरे मन, हृदय और शरीर को मजबूत करें, और आज मुझे चंगा करें।

पवित्र आत्मा मुझे आज शांति और आराम में मार्गदर्शन कर सकता है। आमीन 

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  • बाइबिल से चंगाई के पदों के साथ प्रार्थना कीजिये ,नीचे चंगाई के लिए बाइबल के पदों को  पढ़ें और ध्यान लगाएं । 
  • उपचार के विभिन्न विषयों पर आसानी से याद करें :  शारीरिक चंगाई के बारे में  पद आध्यात्मिक और भावनात्मक चंगाई  के पद 
  • भजन संहिता से चंगाई के पद  यीशु के चंगाई के चमत्कार मसीही  चंगाई शारीरिक चंगाई के बारे में 
  • यह पुराने नियम और नए नियम दोनों पवित्रशास्त्र के माध्यम से स्पष्ट किया गया है कि परमेश्वर हमारे भौतिक शरीर को ठीक करने की शक्ति रखते हैं।
  • चमत्कारी चंगाई आज भी होती है! अपने दर्द के बारे में और आशा के साथ, अपने दिल को भरने के लिए परमेश्वर से बात करने के लिए, इन बाइबल पदों का उपयोग करें । 

FOR BETTER HEALTH; 225 BIBLICAL VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING.

  •  (1) हे यहोवा मुझे चंगा कर, तब मैं चंगा हो जाऊंगा; मुझे बचा, तब मैं बच जाऊंगा; क्योंकि मैं तेरी ही स्तुति करता हूँ।  यिर्मयाह 17:14
  •  (2) मुझे न घबरा; संकट के दिन तू ही मेरा शरणस्थान है।  यिर्मयाह 17:17
  •  (3) हे यहोवा, मेरी आशा टूटने न दे, मेरे सताने वालों ही की आशा टूटे; उन्हीं को विस्मित कर; परन्तु मुझे निराशा से बचा; उन पर विपत्ति डाल और उन को चकनाचूर कर दे!  यिर्मयाह 17:18
  •  (4) यदि तुम में कोई रोगी हो, तो कलीसिया के प्राचीनों को बुलाए, और वे प्रभु के नाम से उस पर तेल मल कर उसके लिये प्रार्थना करें।  याकूब 5:14

विश्वास की प्रार्थना

  • (5) और विश्वास की प्रार्थना के द्वारा रोगी बच जाएगा और प्रभु उस को उठा कर खड़ा करेगा;
  • और यदि उस ने पाप भी किए हों, तो उन की भी क्षमा हो जाएगी।  याकूब 5:15
  • (6) इसलिये तुम आपस में एक दूसरे के साम्हने अपने अपने पापों को मान लो; और एक दूसरे के लिये प्रार्थना करो, जिस से चंगे हो जाओ;
  • धर्मी जन की प्रार्थना के प्रभाव से बहुत कुछ हो सकता है।  याकूब 5:16

अगर कोई बीमार है, तो प्रार्थना और उपचार उपलब्ध हो जाएगा

  •  (7) कि यदि तू अपने परमेश्वर यहोवा का वचन तन मन से सुने, और जो उसकी दृष्टि में ठीक है वही करे, और उसकी आज्ञाओं पर कान लगाए,
  • और उसकी सब विधियों को माने, तो जितने रोग मैं ने मिस्रियों पर भेजा है उन में से एक भी तुझ पर न भेजूंगा;
  • क्योंकि मैं तुम्हारा चंगा करने वाला यहोवा हूं॥  निर्गमन 15:26
  •  (8) तुम अपने परमेश्वर यहोवा की उपासना करना, तब वह तेरे अन्न जल पर आशीष देगा,
  • और तेरे बीच में से रोग दूर करेगा।  निर्गमन 23:25
  •  (9) “मत डर, क्योंकि मैं तेरे संग हूं, इधर उधर मत ताक, क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर हूं; मैं तुझे दृढ़ करूंगा और तेरी सहायता करूंगा,
  • अपने धर्ममय दाहिने हाथ से मैं तुझे सम्हाले रहूंगा॥  यशायाह 41:10
  •  (10) क्योंकि मैं तेरा परमेश्वर यहोवा, तेरा दहिना हाथ पकड़कर कहूंगा, मत डर, मैं तेरी सहायता करूंगा॥  यशायाह 41:13

विश्वास की प्रार्थना

  • (11) जब दीन और दरिद्र लोग जल ढूंढ़ने पर भी न पाएं और उनका तालू प्यास के मारे सूख जाए;
  • मैं यहोवा उनकी बिनती सुनूंगा, मैं इस्राएल का परमेश्वर उन को त्याग न दूंगां,  यशायाह 41:17
  • (12) निश्चय उसने हमारे रोगों को सह लिया और हमारे ही दु:खों को उठा लिया;
  • तौभी हम ने उसे परमेश्वर का मारा-कूटा और दुर्दशा में पड़ा हुआ समझा।  यशायाह 53:4
  • (13) परन्तु वह हमारे ही अपराधो के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के हेतु कुचला गया;
  • हमारी ही शान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी कि उसके कोड़े खाने से हम चंगे हो जाएं।  यशायाह 53:5
  •  (14) मैं तेरा इलाज कर के तेरे घावों को चंगा करूंगा, यहोवा की यह वाणी है; क्योंकि तेरा नाम ठुकराई हुई पड़ा है:
  • वह तो सिय्योन है, उसकी चिन्ता कौन करता है?  यिर्मयाह 30:17

परमेश्वर आपके  स्वास्थ्य  को पुनर्स्थापित करता है

  •  (15) इसलिये अब तुम देख लो कि मैं ही वह हूं, और मेरे संग कोई देवता नहीं; मैं ही मार डालता,
  • और मैं जिलाता भी हूं; मैं ही घायल करता, और मैं ही चंगा भी करता हूं; और मेरे हाथ से कोई नहीं छुड़ा सकता॥  व्यवस्थाविवरण 32:39
  •  (16) तब यदि मेरी प्रजा के लोग जो मेरे कहलाते हैं, दीन हो कर प्रार्थना करें और मेरे दर्शन के खोजी हो कर अपनी बुरी चाल से फिरें,
  • तो मैं स्वर्ग में से सुन कर उनका पाप क्षमा करूंगा और उनके देश को ज्यों का त्यों कर दूंगा।  2 इतिहास 7:14
  •  (17) अब से जो प्रार्थना इस स्थान में की जाएगी, उस पर मेरी आंखें खुली और मेरे कान लगे रहेंगे।  2 इतिहास 7:15
  •  (18) और अब मैं ने इस भवन को अपनाया और पवित्र किया है कि मेरा नाम सदा के लिये इस में बना रहे;

मेरी आंखें और मेरा मन दोनों नित्य यहीं लगे रहेंगे।  2 इतिहास 7:16

  • (19)  हे प्रभु, इन्हीं बातों से लोग जीवित हैं, और इन सभों से मेरी आत्मा को जीवन मिलता है। तू मुझे चंगा कर और मुझे जीवित रख!  यशायाह 38:16
  • (20) देख, शान्ति ही के लिये मुझे बड़ी कडुआहट मिली;
  • परन्तु तू ने स्नेह कर के मुझे विनाश के गड़हे से निकाला है, क्योंकि मेरे सब पापों को तू ने अपनी पीठ के पीछे फेंक दिया है। यशायाह 38:17
  • (21) मैं उसकी चाल देखता आया हूं, तौभी अब उसको चंगा करूंगा;
  • मैं उसे ले चलूंगा और विशेष कर के उसके शोक करने वालों को शान्ति दूंगा।  यशायाह 57:18

दोनों को पूरी शान्ति मिले; और मैं उसको चंगा करूंगा।  यशायाह 57:19

  • (22) मैं मुंह के फल का सृजनहार हूं; यहोवा ने कहा है, जो दूर और जो निकट हैं, दोनों को पूरी शान्ति मिले; और मैं उसको चंगा करूंगा।  यशायाह 57:19
  •  (23) देख, मैं इस नगर का इलाज कर के इसके निवासियों चंगा करूंगा; और उन पर पूरी शान्ति और सच्चाई प्रगट करूंगा।  यिर्मयाह 33:6
  • (24) मैं उन को उनके सारे अधर्म और पाप के काम से शुद्ध करूंगा जो उन्होंने मेरे विरुद्ध किए हैं; और उन्होंने जितने अधर्म और अपराध के काम मेरे विरुद्ध किए हैं, उन सब को मैं क्षमा करूंगा।  यिर्मयाह 33:8
  •  (25) क्योंकि वे वह सब भलाई के काम सुनेंगे जो मैं उनके लिये करूंगा और वे सब कल्याण और शान्ति की चर्चा सुनकर जो मैं उन से करूंगा, डरेंगे और थरथराएंगे; वे पृथ्वी की उन जातियों की दृष्टि में मेरे लिये हर्षाने वाले और स्तुति और शोभा का कारण हो जाएंगे।  यिर्मयाह 33:9
  • (26) हे प्रिय, मेरी यह प्रार्थना है; कि जैसे तू आत्मिक उन्नति कर रहा है, वैसे ही तू सब बातों मे उन्नति करे, और भला चंगा रहे।  3 यूहन्ना 1:2
  • (27) और मेरा परमेश्वर भी अपने उस धन के अनुसार जो महिमा सहित मसीह यीशु में है तुम्हारी हर एक घटी को पूरी करेगा।  फिलिप्पियों 4:19
  • (28) और वह उन की आंखोंसे सब आंसू पोंछ डालेगा; और इस के बाद मृत्यु न रहेगी, और न शोक, न विलाप, न पीड़ा रहेगी; पहिली बातें जाती रहीं।  प्रकाशित वाक्य 21:4

व्यक्तिगत चंगाई के लिए प्रार्थना 

  • चंगा होने और स्वास्थ्य पुनर्प्राप्त करने के लिए प्रार्थना करें, आध्यात्मिक और भावनात्मक चंगाई के लिए बाइबिल के पद
  • पाप, दुर्व्यवहार, उपेक्षा, अस्वीकृति, विश्वासघात , ये सभी बहुत ही भावनात्मक और आध्यात्मिक दर्द का कारण बनते हैं, जो शारीरिक दर्द को चोट पहुंचाते हैं।
  • परमेश्वर, हमारे महान चिकित्सक पूरी तरह से हमारे टूटे हुए दिलों को ठीक कर सकते हैं ।
  • और हमारे घावों को ठीक कर सकते हैं, उपचार कर सकते हैं और हमें पूरी तरह से बना सकते हैं। 
  • आध्यात्मिक और भावनात्मक उपचार अक्सर कुछ अलग कदमों के साथ साथ एक निरंतर प्रक्रिया है ,जिसके लिए हमें कार्रवाई करने की आवश्यकता होती है।

पूर्ण पुनर्प्राप्ति की ओर अपने दिल और दिमाग का मार्गदर्शन करने के लिए निम्नलिखित बाइबल पदों का उपयोग करें ।

  • (29) हे मेरे पुत्र मेरे वचन ध्यान धरके सुन, और अपना कान मेरी बातों पर लगा। नीतिवचन 4:20
  •  (30) इन को अपनी आंखों की ओट न होने दे; वरन अपने मन में धारण कर।  नीतिवचन 4:21
  •  (31) क्योंकि जिनको वे प्राप्त होती हैं, वे उनके जीवित रहने का, और उनके सारे शरीर के चंगे रहने का कारण होती हैं।  नीतिवचन 4:22
  •  (32) सब से अधिक अपने मन की रक्षा कर; क्योंकि जीवन का मूल स्रोत वही है।  नीतिवचन 4:23
  •  (33) मन का आनन्द अच्छी औषधि है, परन्तु मन के टूटने से हड्डियां सूख जाती हैं।  नीतिवचन 17:2
  • (34) हर एक बात का एक अवसर और प्रत्येक काम का, जो आकाश के नीचे होता है, एक समय है।  सभोपदेशक 3:1
  •  (35) जन्म का समय, और मरन का भी समय; बोने का समय; और बोए हुए को उखाड़ने का भी समय है;  सभोपदेशक 3:2

विश्वास की प्रार्थना

  •  (36) घात करने का समय, और चंगा करने का भी समय; ढा देने का समय, और बनाने का भी समय है; सभोपदेशक 3:3
  •  (37) रोने का समय, और हंसने का भी समय; छाती पीटने का समय, और नाचने का भी समय है; सभोपदेशक 3:4
  • (38)  पत्थर फेंकने का समय, और पत्थर बटोरने का भी समय; गल लगाने का समय, और गल लगाने से रूकने का भी समय है; सभोपदेशक 3:5
  •  (39) ढूंढ़ने का समय, और खो देने का भी समय; बचा रखने का समय, और फेंक देने का भी समय है; सभोपदेशक 3:6
  •  (40) फाड़ने का समय, और सीने का भी समय; चुप रहने का समय, और बोलने का भी समय है; सभोपदेशक 3:7
  •  (41) प्रेम का समय, और बैर करने का भी समय; लड़ाई का समय, और मेल का भी समय है। सभोपदेशक 3:8
  •  (42) काम करने वाले को अधिक परिश्रम से क्या लाभ होता है? सभोपदेशक 3:9

MERCY, FAITH & HEALING BIBLE VERSES | चंगाई के लिए बाइबिल पद

  •  (43) मैं ने उस दु:खभरे काम को देखा है जो परमेश्वर ने मनुष्यों के लिये ठहराया है कि वे उस में लगे रहें। सभोपदेशक 3:10
  •  (44) उसने सब कुछ ऐसा बनाया कि अपने अपने समय पर वे सुन्दर होते है; फिर उसने मनुष्यों के मन में अनादि-अनन्त काल का ज्ञान उत्पन्न किया है, तौभी काल का ज्ञान उत्पन्न किया है, वह आदि से अन्त तक मनुष्य बूझ नहीं सकता।  सभोपदेशक 3:11
  •  (45) मैं ने जान लिया है कि मनुष्यों के लिये आनन्द करने और जीवन भर भलाई करने के सिवाय, और कुछ भी अच्छा नहीं;  सभोपदेशक 3:12
  •  (46) और यह भी परमेश्वर का दान है कि मनुष्य खाए-पीए और अपने सब परिश्रम में सुखी रहे।  सभोपदेशक 3:13
  •  (47) मैं जानता हूं कि जो कुछ परमेश्वर करता है वह सदा स्थिर रहेगा; न तो उस में कुछ बढ़ाया जा सकता है, और न कुछ घटाया जा सकता है; परमेश्वर ऐसा इसलिये करता है कि लोग उसका भय मानें।  सभोपदेशक 3:14

विश्वास की प्रार्थना

  • (48) “हे यहोवा, हम लोगों पर अनुग्रह कर; हम तेरी ही बाट जोहते हैं। भोर को तू उनका भुजबल, संकट के समय हमारा उद्धारकर्त्ता ठहर।  यशायाह 33:2
  •  (49) यदि तुम में कोई दुखी हो तो वह प्रार्थना करे: यदि आनन्दित हो, तो वह स्तुति के भजन गाए।  याकूब 5:13
  •  (50) यदि तुम में कोई रोगी हो, तो कलीसिया के प्राचीनों को बुलाए, और वे प्रभु के नाम से उस पर तेल मल कर उसके लिये प्रार्थना करें। याकूब 5:14
  •  (51) और विश्वास की प्रार्थना के द्वारा रोगी बच जाएगा और प्रभु उस को उठा कर खड़ा करेगा; और यदि उस ने पाप भी किए हों, तो उन की भी क्षमा हो जाएगी। याकूब 5:15
  • (52)  इसलिये तुम आपस में एक दूसरे के साम्हने अपने अपने पापों को मान लो; और एक दूसरे के लिये प्रार्थना करो, जिस से चंगे हो जाओ; धर्मी जन की प्रार्थना के प्रभाव से बहुत कुछ हो सकता है।  याकूब 5:16

विश्वास की प्रार्थना

  •  (53) “वह आप ही हमारे पापों को अपनी देह पर लिए हुए क्रूस पर चढ़ गया जिस से हम पापों के लिये मर कर के धामिर्कता के लिये जीवन बिताएं:
  • उसी के मार खाने से तुम चंगे हुए। 1 पतरस 2:24
  •  (54) “मैं तुम्हें शान्ति दिए जाता हूं, अपनी शान्ति तुम्हें देता हूं;
  • जैसे संसार देता है, मैं तुम्हें नहीं देता: तुम्हारा मन न घबराए और न डरे। यूहन्ना 14:27
  • (55) “हे सब परिश्रम करने वालों और बोझ से दबे लोगों, मेरे पास आओ; मैं तुम्हें विश्राम दूंगा। मत्ती 11:28
  •  (56) “मेरा जूआ अपने ऊपर उठा लो; और मुझ से सीखो; क्योंकि मैं नम्र और मन में दीन हूं:
  • और तुम अपने मन में विश्राम पाओगे।  मत्ती 11:29
  • (57)  “क्योंकि मेरा जूआ सहज और मेरा बोझ हल्का है॥  मत्ती 11:30

विश्वास की प्रार्थना

  •  (58) “वह थके हुए को बल देता है और शक्तिहीन को बहुत सामर्थ देता है।  यशायाह 40:29
  • (59) “तरूण तो थकते और श्रमित हो जाते हैं, और जवान ठोकर खाकर गिरते हैं;  यशायाह 40:30
  •  (60) “परन्तु जो यहोवा की बाट जोहते हैं, वे नया बल प्राप्त करते जाएंगे, वे उकाबों की नाईं उड़ेंगे,
  • वे दौड़ेंगे और श्रमित न होंगे, चलेंगे और थकित न होंगे॥ यशायाह 40:31
  •  (61) “तुम किसी ऐसी परीक्षा में नहीं पड़े, जो मनुष्य के सहने से बाहर है: और परमेश्वर सच्चा है:
  • वह तुम्हें सामर्थ से बाहर परीक्षा में न पड़ने देगा, वरन परीक्षा के साथ निकास भी करेगा; कि तुम सह सको॥  1 कुरिन्थियों 10:13

        भजन संहिता से चंगाई के पद 

भजन संहिता की पुस्तक पछतावा, प्रार्थना और प्रशंसा का एक संग्रह है। प्रत्येक अध्याय के लेखकों ने हर संघर्ष, दिल के दर्द और भय का अनुभव किया। आराम देने वाले पद  का यह संग्रह आपको संपूर्ण और संपूर्ण चिकित्सा की ओर मार्गदर्शन करने में मदद करेगा। 

  • (62) “तब वे संकट में यहोवा की दोहाई देते हैं, और व सकेती से उनका उद्धार करता है;  भजन संहिता 107:19
  •  (63) “वह अपने वचन के द्वारा उन को चंगा करता और जिस गड़हे में वे पड़े हैं, उससे निकालता है। भजन संहिता 107:20
  •  (64) “लोग यहोवा की करूणा के कारण और उन आश्चर्यकर्मों के कारण जो वह मनुष्यों के लिये करता है, उसका धन्यवाद करें!  भजन संहिता 107:21
  • (65) “हे यहोवा मैं तुझे सराहूंगा, क्योंकि तू ने मुझे खींचकर निकाला है, और मेरे शत्रुओं को मुझ पर आनन्द करने नहीं दिया। भजन संहिता 30:1
  •  (66) “हे मेरे परमेश्वर यहोवा, मैं ने तेरी दोहाई दी और तू ने मुझे चंगा किया है। भजन संहिता 30:2
  •  (67) “मैं यहोवा के पास गया, तब उसने मेरी सुन ली, और मुझे पूरी रीति से निर्भय किया। भजन संहिता 34:4
  •  (68) “जिन्होंने उसकी ओर दृष्टि की उन्होंने ज्योति पाई; और उनका मुंह कभी काला न होने पाया। भजन संहिता 34:5

विश्वास की प्रार्थना

  • (69) “इस दीन जन ने पुकारा तब यहोवा ने सुन लिया, और उसको उसके सब कष्टों से छुड़ा लिया”॥  भजन संहिता 34:6
  • (70) “यहोवा के डरवैयों के चारों ओर उसका दूत छावनी किए हुए उन को बचाता है।  भजन संहिता 34:7
  • (71) “हे यहोवा के पवित्र लोगो, उसका भय मानो, क्योंकि उसके डरवैयों को किसी बात की घटी नहीं होती!  भजन संहिता 34:9
  • (72) “जवान सिंहों तो घटी होती और वे भूखे भी रह जाते हैं; परन्तु यहोवा के खोजियों को किसी भली वस्तु की घटी न होवेगी॥  भजन संहिता 34:10
  • (73) “वह कौन मनुष्य है जो जीवन की इच्छा रखता, और दीर्घायु चाहता है ताकि भलाई देखे?  भजन संहिता 34:12
  • (74) “यहोवा की आंखे धर्मियों पर लगी रहती हैं, और उसके कान भी उसकी दोहाई की ओर लगे रहते हैं। भजन संहिता 34:15
  • (75) “धर्मी दोहाई देते हैं और यहोवा सुनता है, और उन को सब विपत्तियों से छुड़ाता है। भजन संहिता 34:17
  • (76) “यहोवा टूटे मन वालों के समीप रहता है, और पिसे हुओं का उद्धार करता है॥  भजन संहिता 34:18

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  • (77) “धर्मी पर बहुत सी विपत्तियां पड़ती तो हैं, परन्तु यहोवा उसको उन सब से मुक्त करता है। भजन संहिता 34:19
  • (78) “वह उसकी हड्डी हड्डी की रक्षा करता है; और उन में से एक भी टूटने नहीं पाती। भजन संहिता 34:20
  • (79)  “यहोवा अपने दासों का प्राण मोल लेकर बचा लेता है; और जितने उसके शरणागत हैं उन में से कोई भी दोषी न ठहरेगा॥ भजन संहिता 34:22
  • (80) “हे मेरे मन, यहोवा को धन्य कह, और उसके किसी उपकार को न भूलना। भजन संहिता 103:2
  • (81) “वही तो तेरे सब अधर्म को क्षमा करता, और तेरे सब रोगों को चंगा करता है, भजन संहिता 103:3
  • (82) “वही तो तेरे प्राण को नाश होने से बचा लेता है, और तेरे सिर पर करूणा और दया का मुकुट बान्धता है, भजन संहिता 103:4
  • (83) हे यहोवा, मुझ पर अनुग्रह कर, क्योंकि मैं कुम्हला गया हूं; हे यहोवा, मुझे चंगा कर, क्योंकि मेरी हडि्डयों में बेचैनी है। भजन संहिता 6:2
  • (84) मेरा प्राण भी बहुत खेदित है। और तू, हे यहोवा, कब तक? भजन संहिता 6:3

विश्वास की प्रार्थना

  • (85) लौट आ, हे यहोवा, और मेरे प्राण बचा अपनी करूणा के निमित्त मेरा उद्धार कर। भजन संहिता 6:4
  • (86) क्योंकि मृत्यु के बाद तेरा स्मरण नहीं होता; अधोलोक में कौन तेरा धन्यवाद करेगा? भजन संहिता 6:5
  • (87) मैं कराहते कराहते थक गया; मैं अपनी खाट आंसुओं से भिगोता हूं; प्रति रात मेरा बिछौना भीगता है। भजन संहिता 6:6
  • (88) मेरी आंखें शोक से बैठी जाती हैं, और मेरे सब सताने वालों के कारण वे धुन्धला गई हैं॥ भजन संहिता 6:7
  • (89) यहोवा ने मेरा गिड़गिड़ाना सुना है; यहोवा मेरी प्रार्थना को ग्रहण भी करेगा। भजन संहिता 6:9
  • (90) क्या ही धन्य है वह, जो कंगाल की सुधि रखता है! विपत्ति के दिन यहोवा उसको बचाएगा। भजन संहिता 41:1
  •  (91) यहोवा उसकी रक्षा करके उसको जीवित रखेगा, और वह पृथ्वी पर भाग्यवान होगा। तू उसको शत्रुओं की इच्छा पर न छोड़। भजन संहिता 41:2
  •  (92) जब वह व्याधि के मारे सेज पर पड़ा हो, तब यहोवा उसे सम्भालेगा; तू रोग में उसके पूरे बिछौने को उलटकर ठीक करेगा॥ भजन संहिता 41:3
  •  (93) मैं ने कहा, हे यहोवा, मुझ पर अनुग्रह कर; मुझ को चंगा कर, क्योंकि मैं ने तो तेरे विरुद्ध पाप किया है!  भजन संहिता 41:4

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  • (94) हे परमेश्वर, अपनी करूणा के अनुसार मुझ पर अनुग्रह कर; अपनी बड़ी दया के अनुसार मेरे अपराधों को मिटा दे।  भजन संहिता 51:1
  • (95) मुझे भलीं भांति धोकर मेरा अधर्म दूर कर, और मेरा पाप छुड़ाकर मुझे शुद्ध कर!  भजन संहिता 51:2
  •  (96) मैं तो अपने अपराधों को जानता हूं, और मेरा पाप निरन्तर मेरी दृष्टि में रहता है।  भजन संहिता 51:3
  • (97) मैं ने केवल तेरे ही विरुद्ध पाप किया, और जो तेरी दृष्टि में बुरा है, वही किया है, ताकि तू बोलने में धर्मी और न्याय करने में निष्कलंक ठहरे। भजन संहिता 51:4
  • (98) जूफा से मुझे शुद्ध कर, तो मैं पवित्र हो जाऊंगा; मुझे धो, और मैं हिम से भी अधिक श्वेत बनूंगा। भजन संहिता 51:7
  • (99) मुझे हर्ष और आनन्द की बातें सुना, जिस से जो हडि्डयां तू ने तोड़ डाली हैं वह मगन हो जाएं। भजन संहिता 51:8

  MERCY, FAITH & HEALING

  • (100) हे परमेश्वर, मेरे अन्दर शुद्ध मन उत्पन्न कर, और मेरे भीतर स्थिर आत्मा नये सिरे से उत्पन्न कर। भजन संहिता 51:10
  • (101) अपने किए हुए उद्धार का हर्ष मुझे फिर से दे, और उदार आत्मा देकर मुझे सम्भाल॥ भजन संहिता 51:12
  •  (102) हे परमेश्वर, हे मेरे उद्धारकर्ता परमेश्वर, मुझे हत्या के अपराध से छुड़ा ले, तब मैं तेरे धर्म का जयजयकार करने पाऊंगा॥ भजन संहिता 51:14
  •  (103) “टूटा मन परमेश्वर के योग्य बलिदान है; हे परमेश्वर, तू टूटे और पिसे हुए मन को तुच्छ नहीं जानता॥  भजन संहिता 51:17
  • (104) परन्तु हे यहोवा, तु मुझ पर अनुग्रह करके मुझ को उठा ले कि मैं उन को बदला दूं! भजन संहिता 41:10
  • (105) मेरा शत्रु जो मुझ पर जयवन्त नहीं हो पाता, इस से मैं ने जान लिया है कि तू मुझ से प्रसन्न है। भजन संहिता 41:11

चंगाई के लिए बाइबिल पद 

  • (106) और मुझे तो तू खराई से सम्भालता, और सर्वदा के लिये अपने सम्मुख स्थिर करता है॥ भजन संहिता 41:12
  •  (107) “वह खेदित मन वालों को चंगा करता है, और उनके शोक पर मरहम- पट्टी बान्धता है। भजन संहिता 147:3
  • (108) यहोवा मेरा चरवाहा है, मुझे कुछ घटी न होगी।  भजन संहिता 23:1
  • (109) वह मुझे हरी हरी चराइयों में बैठाता है; वह मुझे सुखदाई जल के झरने के पास ले चलता है;  भजन संहिता 23:2
  • (110) वह मेरे जी में जी ले आता है। धर्म के मार्गो में वह अपने नाम के निमित्त मेरी अगुवाई करता है। भजन संहिता 23:3
  • (111) चाहे मैं घोर अन्धकार से भरी हुई तराई में होकर चलूं, तौभी हानि से न डरूंगा, क्योंकि तू मेरे साथ रहता है; तेरे सोंटे और तेरी लाठी से मुझे शान्ति मिलती है॥ भजन संहिता 23:4

200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  • (112) तू मेरे सताने वालों के साम्हने मेरे लिये मेज बिछाता है; तू ने मेरे सिर पर तेल मला है, मेरा कटोरा उमण्ड रहा है। भजन संहिता 23:5
  • (113) निश्चय भलाई और करूणा जीवन भर मेरे साथ साथ बनी रहेंगी; और मैं यहोवा के धाम में सर्वदा वास करूंगा॥ भजन संहिता 23:6
  • (114) “हे यहोवा, सुन, मुझ पर अनुग्रह कर; हे यहोवा, तू मेरा सहायक हो॥ भजन संहिता 30:10
  •  (115) “तू ने मेरे लिये विलाप को नृत्य में बदल डाला, तू ने मेरा टाट उतरवाकर मेरी कमर में आनन्द का पटुका बान्धा है; भजन संहिता 30:11
  • (116) “मेरे हृदय और मन दोनों तो हार गए हैं, परन्तु परमेश्वर सर्वदा के लिये मेरा भाग और मेरे हृदय की चट्टान बना है॥ भजन संहिता 73:26

चंगाई के  यीशु द्वारा किये गए चमत्कार

यीशु की चिकित्सा आज के लिए उतनी ही है जितनी कि जब वह पृथ्वी पर चलता था और बीमारों और विकलांगों के उपचार के चमत्कार करता था, ये बाइबिल हमें बताती है 

  •  (117) निश्चय उसने हमारे रोगों को सह लिया और हमारे ही दु:खों को उठा लिया;
  • तौभी हम ने उसे परमेश्वर का मारा-कूटा और दुर्दशा में पड़ा हुआ समझा। यशायाह 53:4
  •  (118) परन्तु वह हमारे ही अपराधो के कारण घायल किया गया, वह हमारे अधर्म के कामों के हेतु कुचला गया;
  • हमारी ही शान्ति के लिये उस पर ताड़ना पड़ी कि उसके कोड़े खाने से हम चंगे हो जाएं।  यशायाह 53:5
  •  (119) तौभी यहोवा को यही भाया कि उसे कुचले; उसी ने उसको रोगी कर दिया; जब तू उसका प्राण दोषबलि करे,
  • तब वह अपना वंश देखने पाएगा, वह बहुत दिन जीवित रहेगा; उसके हाथ से यहोवा की इच्छा पूरी हो जाएगी।  यशायाह 53:10

ज्ञान के द्वारा मेरा धर्मी दास बहुतेरों को धर्मी ठहराएगा;

  •  (120) वह अपने प्राणों का दु:ख उठा कर उसे देखेगा और तृप्त होगा; अपने ज्ञान के द्वारा मेरा धर्मी दास बहुतेरों को धर्मी ठहराएगा;
  • और उनके अधर्म के कामों का बोझ आप उठा लेगा।  यशायाह 53:11
  • (122) इस कारण मैं उसे महान लोगों के संग भाग दूंगा, और, वह सामर्थियों के संग लूट बांट लेगा; क्योंकि उसने अपना प्राण मृत्यु के लिये उण्डेल दिया,
  • वह अपराधियों के संग गिना गया; तौभी उसने बहुतों के पाप का बोझ उठ लिया, और, अपराधियों के लिये बिनती करता है॥  यशायाह 53:12

 यीशु आज भी ठीक कर सकता है! 

  • (123) यीशु सारे गलील में फिरता हुआ उन की सभाओं में उपदेश करता और राज्य का सुसमाचार प्रचार करता,
  • और लोगों की हर प्रकार की बीमारी और दुर्बल्ता को दूर करता रहा।  मत्ती 4:23
  • (124) और सारे सूरिया में यीशु का यश फैल गया; और लोग सब बीमारों को, जो नाना प्रकार की बीमारियों और दुखों में जकड़े हुए थे,
  • और जिन में दुष्टात्माएं थीं और मिर्गी वालों और झोले के मारे हुओं को उसके पास लाए और उस ने उन्हें चंगा किया।  मत्ती 4:24
  •  (125) “यीशु ने अपने बारह चेलों को पास बुलाकर, उन्हें अशुद्ध आत्माओं पर अधिकार दिया,
  • कि उन्हें निकालें और सब प्रकार की बीमारियों और सब प्रकार की दुर्बलताओं को दूर करें॥  मत्ती 10:1

बीमारों को चंगा करो: मरे हुओं को जिलाओ:

  • (126) बीमारों को चंगा करो: मरे हुओं को जिलाओ: कोढिय़ों को शुद्ध करो: दुष्टात्माओं को निकालो: तुम ने सेंतमेंत पाया है, सेंतमेंत दो।  मत्ती 10:8
  • (127) सहज क्या है, यह कहना, कि तेरे पाप क्षमा हुए; या यह कहना कि उठ और चल फिर।  मत्ती 9:5
  • (128) परन्तु इसलिये कि तुम जान लो कि मनुष्य के पुत्र को पृथ्वी पर पाप क्षमा करने का अधिकार है,
  • (उस ने झोले के मारे हुए से कहा ) उठ: अपनी खाट उठा, और अपने घर चला जा।  मत्ती 9:6
  •  (129) उस ने यह सुनकर उन से कहा, वैद्य भले चंगों को नहीं परन्तु बीमारों को अवश्य है।  मत्ती 9:12

चंगाई के लिए बाइबिल पद 

  •  (130) सो तुम जाकर इस का अर्थ सीख लो, कि मैं बलिदान नहीं परन्तु दया चाहता हूं;
  • क्योंकि मैं धमिर्यों को नहीं परन्तु पापियों को बुलाने आया हूं॥  मत्ती 9:13
  •  (131) वह उन से ये बातें कह ही रहा था, कि देखो, एक सरदार ने आकर उसे प्रणाम किया और कहा मेरी पुत्री अभी मरी है;
  • परन्तु चलकर अपना हाथ उस पर रख, तो वह जीवित हो जाएगी।  मत्ती 9:18
  • (132) यीशु उठकर अपने चेलों समेत उसके पीछे हो लिया।  मत्ती 9:19
  •  (133) और देखो, एक स्त्री ने जिस के बारह वर्ष से लोहू बहता था,
  • उसके पीछे से आकर उसके वस्त्र के आंचल को छू लिया।  मत्ती 9:20
  •  (134) क्योंकि वह अपने मन में कहती थी कि यदि मैं उसके वस्त्र ही को छू लूंगी तो चंगी हो जाऊंगी।  मत्ती 9:21
  •  (135) यीशु ने फिरकर उसे देखा, और कहा; पुत्री ढाढ़स बान्ध;
  • तेरे विश्वास ने तुझे चंगा किया है; सो वह स्त्री उसी घड़ी चंगी हो गई।  मत्ती 9:22

 MERCY, FAITH & HEALING

  •  (136) जब यीशु उस सरदार के घर में पहुंचा और बांसली बजाने वालों और भीड़ को हुल्लड़ मचाते देखा तब कहा।  मत्ती 9:23
  •  (137) हट जाओ, लड़की मरी नहीं, पर सोती है; इस पर वे उस की हंसी करने लगे।  मत्ती 9:24
  • (138) परन्तु जब भीड़ निकाल दी गई, तो उस ने भीतर जाकर लड़की का हाथ पकड़ा, और वह जी उठी।  मत्ती 9:25
  •  (139) और इस बात की चर्चा उस सारे देश में फैल गई।  मत्ती 9:26

 FAITH & HEALING

  •  (140) जब यीशु वहां से आगे बढ़ा, तो दो अन्धे उसके पीछे यह पुकारते हुए चले, कि हे दाऊद की सन्तान, हम पर दया कर।  मत्ती 9:27
  • (141) जब वह घर में पहुंचा, तो वे अन्धे उस के पास आए; और यीशु ने उन से कहा; क्या तुम्हें विश्वास है, कि मैं यह कर सकता हूं उन्होंने उस से कहा; हां प्रभु।  मत्ती 9:28
  • (142) तब उस ने उन की आंखे छूकर कहा, तुम्हारे विश्वास के अनुसार तुम्हारे लिये हो।  मत्ती 9:29
  • (143) और उन की आंखे खुल गई और यीशु ने उन्हें चिताकर कहा; सावधान, कोई इस बात को न जाने।  मत्ती 9:30
  • (144) पर उन्होंने निकलकर सारे देश में उसका यश फैला दिया॥  मत्ती 9:31
  •  (145) जब वे बाहर जा रहे थे, तो देखो, लोग एक गूंगे को जिस में दुष्टात्मा थी उस के पास लाए।  मत्ती 9:32

BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (146) और जब दुष्टात्मा निकाल दी गई, तो गूंगा बोलने लगा; और भीड़ ने अचम्भा करके कहा कि इस्राएल में ऐसा कभी नहीं देखा गया। मत्ती 9:33
  •  (147) परन्तु फरीसियों ने कहा, यह तो दुष्टात्माओं के सरदार की सहायता से दुष्टात्माओं को निकालता है॥  मत्ती 9:34
  •  (148) और यीशु सब नगरों और गांवों में फिरता रहा और उन की सभाओं में उपदेश करता, और राज्य का सुसमाचार प्रचार करता,
  • और हर प्रकार की बीमारी और दुर्बलता को दूर करता रहा। मत्ती 9:35
  •  (149) जब उस ने भीड़ को देखा तो उस को लोगों पर तरस आया, क्योंकि वे उन भेड़ों की नाईं जिनका कोई रखवाला न हो, व्याकुल और भटके हुए से थे।  मत्ती 9:36
    (150) यीशु ने यह सुनकर, उन से कहा, भले चंगों को वैद्य की आवश्यकता नहीं, परन्तु बीमारों को है: मैं धमिर्यों को नहीं, परन्तु पापियों को बुलाने आया हूं॥ मरकुस 2:17

 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (151) “यीशु ने उस से कहा; पुत्री तेरे विश्वास ने तुझे चंगा किया है: कुशल से जा, और अपनी इस बीमारी से बची रह॥  मरकुस 5:34
  •   (152) एक दिन ऐसा हुआ कि वह उपदेश दे रहा था, और फरीसी और व्यवस्थापक वहां बैठे हुए थे,
  • जो गलील और यहूदिया के हर एक गांव से, और यरूशलेम से आए थे; और चंगा करने के लिये प्रभु की सामर्थ उसके साथ थी।  लूका 5:17
  •  (153) और देखो कई लोग एक मनुष्य को जो झोले का मारा हुआ था, खाट पर लाए,
  • और वे उसे भीतर ले जाने और यीशु के साम्हने रखने का उपाय ढूंढ़ रहे थे। लूका 5:18
  •  (154) और जब भीड़ के कारण उसे भीतर न ले जा सके तो उन्होंने कोठे पर चढ़ कर और खप्रैल हटाकर,
  • उसे खाट समेत बीच में यीशु के साम्हने उतरा दिया। लूका 5:19

विश्वास देखकर उस से कहा; हे मनुष्य, तेरे पाप क्षमा हुए। 

  •  (155) उस ने उन का विश्वास देखकर उस से कहा; हे मनुष्य, तेरे पाप क्षमा हुए।  लूका 5:20
  •  (156) तब शास्त्री और फरीसी विवाद करने लगे, कि यह कौन है, जो परमेश्वर की निन्दा करता है?
  • परमेश्वर का छोड़ कौन पापों की क्षमा कर सकता है? लूका 5:21
  •  (157) यीशु ने उन के मन की बातें जानकर, उन से कहा कि तुम अपने मनों में क्या विवाद कर रहे हो? लूका 5:22

चंगाई के लिए बाइबिल पद 

  •  (158) सहज क्या है? क्या यह कहना, कि तेरे पाप क्षमा हुए, या यह कहना कि उठ, और चल फिर? लूका 5:23
  •  (159) परन्तु इसलिये कि तुम जानो कि मनुष्य के पुत्र को पृथ्वी पर पाप क्षमा करने का भी अधिकार है,
  • (उस ने उस झोले के मारे हुए से कहा), मैं तुझ से कहता हूं, उठ और अपनी खाट उठाकर अपने घर चला जा। लूका 5:24
  •  (160) वह तुरन्त उन के साम्हने उठा, और जिस पर वह पड़ा था उसे उठाकर, परमेश्वर की बड़ाई करता हुआ अपने घर चला गया। लूका 5:25
  • (161) तब सब चकित हुए और परमेश्वर की बड़ाई करने लगे, और बहुत डरकर कहने लगे, कि आज हम ने अनोखी बातें देखी हैं॥ लूका 5:26

MERCY, FAITH & HEALING BIBLE VERSES | चंगाई के लिए बाइबिल पद

  •   (162) और इसके बाद वह बाहर गया, और लेवी नाम एक चुंगी लेने वाले को चुंगी की चौकी पर बैठे देखा, और उस से कहा, मेरे पीछे हो ले।  लूका 5:27
  •  (163) तब वह सब कुछ छोड़कर उठा, और उसके पीछे हो लिया। लूका 5:28
  •  (164) और लेवी ने अपने घर में उसके लिये बड़ी जेवनार की; और चुंगी लेने वालों की और औरों की जो उसके साथ भोजन करने बैठे थे एक बड़ी भीड़ थी।  लूका 5:29
  •  (165) और फरीसी और उन के शास्त्री उस के चेलों से यह कहकर कुड़कुड़ाने लगे, कि तुम चुंगी लेने वालों और पापियों के साथ क्यों खाते-पीते हो?  लूका 5:30

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (166) यीशु ने उन को उत्तर दिया; कि वैद्य भले चंगों के लिये नहीं, परन्तु बीमारों के लिये अवश्य है। लूका 5:31
  •  (168) मैं धमिर्यों को नहीं, परन्तु पापियों को मन फिराने के लिये बुलाने आया हूं। लूका 5:32
  •  (169) और देखो, एक स्त्री थी, जिसे अठारह वर्ष से एक र्दुबल करने वाली दुष्टात्मा लगी थी,
  • और वह कुबड़ी हो गई थी, और किसी रीति से सीधी नहीं हो सकती थी। लूका 13:11
  •  (170) यीशु ने उसे देखकर बुलाया, और कहा हे नारी, तू अपनी र्दुबलता से छूट गई।  लूका 13:12

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (171) तब उस ने उस पर हाथ रखे, और वह तुरन्त सीधी हो गई, और परमेश्वर की बड़ाई करने लगी।  लूका 13:13
  •  (171) फिर वह सब्त के दिन फरीसियों के सरदारों में से किसी के घर में रोटी खाने गया: और वे उस की घात में थे। लूका 14:1
  •  (172) और देखो, एक मनुष्य उसके साम्हने था, जिसे जलन्धर का रोग था। लूका 14:2
  •  (173) इस पर यीशु ने व्यवस्थापकों और फरीसियों से कहा; क्या सब्त के दिन अच्छा करना उचित है, कि नहीं परन्तु वे चुपचाप रहे। लूका 14:3

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (174) तब उस ने उसे हाथ लगा कर चंगा किया, और जाने दिया। लूका 14:4
  •  (175) और उन से कहा; कि तुम में से ऐसा कौन है, जिस का गदहा या बैल कुएं में गिर जाए ,और वह सब्त के दिन उसे तुरन्त बाहर न निकाल ले? लूका 14:5

विश्वाश की प्रार्थना

  •  वे इन बातों का कुछ उत्तर न दे सके॥  लूका 14:6
  • (176) और चंगा करने के लिये तू अपना हाथ बढ़ा; कि चिन्ह और अद्भुत काम तेरे पवित्र सेवक यीशु के नाम से किए जाएं। प्रेरितों के काम 4:30
  • (177) जब वे प्रार्थना कर चुके, तो वह स्थान जहां वे इकट्ठे थे हिल गया, और वे सब पवित्र आत्मा से परिपूर्ण हो गए,
  • और परमेश्वर का वचन हियाव से सुनाते रहे॥ प्रेरितों के काम 4:31
  •  (178) वहां उसे ऐनियास नाम झोले का मारा हुआ एक मनुष्य मिला, जो आठ वर्ष से खाट पर पड़ा था। प्रेरितों के काम 9:33

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (179) पतरस ने उस से कहा; हे ऐनियास! यीशु मसीह तुझे चंगा करता है; उठ, अपना बिछौना बिछा; तब वह तुरन्त उठ खड़ हुआ। प्रेरितों के काम 9:34
  •  (180) अब मुझे निश्चय हुआ, कि परमेश्वर किसी का पक्ष नहीं करता, वरन हर जाति में जो उस से डरता और धर्म के काम करता है, वह उसे भाता है। प्रेरितों के काम 10:
  •  (181) जो वचन उस ने इस्त्राएलियों के पास भेजा, जब कि उस ने यीशु मसीह के द्वारा (जो सब का प्रभु है) शान्ति का सुसमाचार सुनाया। प्रेरितों के काम 10:36
  • (182)  वह बात तुम जानते हो जो यूहन्ना के बपतिस्मा के प्रचार के बाद गलील से आरम्भ करके सारे यहूदिया में फैल गई।  प्रेरितों के काम 10:37

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  • (183)  कि परमेश्वर ने किस रीति से यीशु नासरी को पवित्र आत्मा और सामर्थ से अभिषेक किया: वह भलाई करता, और सब को जो शैतान के सताए हुए थे, अच्छा करता फिरा; क्योंकि परमेश्वर उसके साथ था।  प्रेरितों के काम 10:38
  • (184) “जब वह एक गाँव में जा रहा था, तो कुष्ठ रोग से पीड़ित दस लोग उससे मिले। उन्होंने कुछ दूरी पर खड़े होकर तेज आवाज में कहा,” यीशु, मास्टर, हम पर दया करो! ” जब उसने उन्हें देखा, तो उन्होंने कहा, “जाओ, अपने आप को पुजारियों को दिखाओ।” और जब वे गए, तो वे साफ हो गए। उनमें से एक, जब उसने देखा कि वह चंगा था, वापस आया, तो ऊँची आवाज़ में  परमेश्वर की प्रशंसा की। उसने खुद को यीशु के चरणों में फेंक दिया और उसे धन्यवाद दिया और वह एक सामरी था। यीशु ने पूछा। “क्या सभी दस साफ नहीं थे? अन्य नौ कहाँ हैं? क्या कोई भी इस विदेशी को छोड़कर परमेश्वर की स्तुति करने के लिए नहीं लौटा है?” फिर उसने उससे कहा,
  • (185) “उठो और जाओ; तुम्हारे विश्वास ने तुम्हें अच्छा बनाया है।” ल्यूक 12: 17-19

जगत की ज्योति हूँ

  •  (186) जब तक मैं जगत में हूं, तब तक जगत की ज्योति हूं। यूहन्ना 9:5
  •  (187) यह कहकर उस ने भूमि पर थूका और उस थूक से मिट्टी सानी, और वह मिट्टी उस अन्धे की आंखों पर लगाकर।  यूहन्ना 9:6
  • (188) उस से कहा; जा शीलोह के कुण्ड में धो ले, (जिस का अर्थ भेजा हुआ है) सो उस ने जाकर धोया, और देखता हुआ लौट आया।  यूहन्ना 9:7
  • (189) तब पड़ोसी और जिन्हों ने पहले उसे भीख मांगते देखा था, कहने लगे; क्या यह वही नहीं, जो बैठा भीख मांगा करता था? यूहन्ना 9:8
  •  (190) कितनों ने कहा, यह वही है: औरों ने कहा, नहीं; परन्तु उसके समान है: उस ने कहा, मैं वही हूं।  यूहन्ना 9:9

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (191) तब वे उस से पूछने लगे, तेरी आंखें क्योंकर खुल गईं?  यूहन्ना 9:10
  •  (192) उस ने उत्तर दिया, कि यीशु नाम एक व्यक्ति ने मिट्टी सानी, और मेरी आंखों पर लगाकर मुझ से कहा, कि शीलोह में जाकर धो ले; सो मैं गया,
  • और धोकर देखने लगा।  यूहन्ना 9:11
    (193) यीशु तुरन्त आराधनालय में से निकलकर, याकूब और यूहन्ना के साथ शमौन और अन्द्रियास के घर आया।  मरकुस 1:29

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (194) और शमौन की सास ज्वर से पीडित थी, और उन्होंने तुरन्त उसके विषय में उस से कहा।  मरकुस 1:30
  •  (195) तब उस ने पास जाकर उसका हाथ पकड़ के उसे उठाया; और उसका ज्वर उस पर से उतर गया,
  • और वह उन की सेवा-टहल करने लगी॥ मरकुस 1:31
  •  (196) सन्ध्या के समय जब सूर्य डूब गया तो लोग सब बीमारों को और उन्हें जिन में दुष्टात्माएं थीं उसके पास लाए।  मरकुस 1:32
  •  और सारा नगर द्वार पर इकट्ठा हुआ।  मरकुस 1:33

FAITH & HEALING

  •  (197) और उस ने बहुतों को जो नाना प्रकार की बीमारियों से दुखी थे, चंगा किया; और बहुत से दुष्टात्माओं को निकाला;
  • और दुष्टात्माओं को बोलने न दिया, क्योंकि वे उसे पहचानती थीं॥  मरकुस 1:34
  • (198) अपने घर को लौट जा और लोगों से कह दे, कि परमेश्वर ने तेरे लिये कैसे बड़े काम किए हैं: वह जाकर सारे नगर में प्रचार करने लगा,
  • कि यीशु ने मेरे लिये कैसे बड़े काम किए॥ लूका 8:39
  •  (199) जब यीशु लौट रहा था, तो लोग उस से आनन्द के साथ मिले; क्योंकि वे सब उस की बाट जोह रहे थे।  लूका 8:40
  •  (200) और देखो, याईर नाम एक मनुष्य जो आराधनालय का सरदार था, आया,
  • और यीशु के पांवों पर गिर के उस से बिनती करने लगा, कि मेरे घर चल। लूका 8:41

 The Lord Jesus Christ Is In Every Book of the Bible. Jesus in the 66 Books of the Bible.

  •  (201) क्योंकि उसके बारह वर्ष की एकलौती बेटी थी, और वह मरने पर थी: जब वह जा रहा था, तब लोग उस पर गिरे पड़ते थे॥  लूका 8:42
  •  (202) और एक स्त्री ने जिस को बारह वर्ष से लोहू बहने का रोग था, और जो अपनी सारी जिविका वैद्यों के पीछे व्यय कर चुकी थी,
  • और तौभी किसी के हाथ से चंगी न हो सकी थी।  लूका 8:43
  •  (203) पीछे से आकर उसके वस्त्र के आंचल को छूआ, और तुरन्त उसका लोहू बहना थम गया।  लूका 8:44
  •  (204) इस पर यीशु ने कहा, मुझे किस ने छूआ जब सब मुकरने लगे, तो पतरस और उसके साथियों ने कहा; हे स्वामी, तुझे तो भीड़ दबा रही है,
  • और तुझ पर गिरी पड़ती है।  लूका 8:45
  •  (205) 1 परन्तु यीशु ने कहा: किसी ने मुझे छूआ है, क्योंकि मैं ने जान लिया है कि मुझ में से सामर्थ निकली है।  लूका 8:46

चंगाई के लिए बाइबिल पद | 200 PLUS BIBLE VERSES ABOUT MERCY, FAITH & HEALING

  •  (206) जब स्त्री ने देखा, कि मैं छिप नहीं सकती, तब कांपती हुई आई, और उसके पांवों पर गिरकर सब लोगों के साम्हने बताया, कि मैं ने किस कारण से तुझे छूआ, और क्योंकर तुरन्त चंगी हो गई।  लूका 8:47
  •  (207) उस ने उस से कहा, बेटी तेरे विश्वास ने तुझे चंगा किया है, कुशल से चली जा।  लूका 8:48
  •  (208) वह यह कह ही रहा था, कि किसी ने आराधनालय के सरदार के यहां से आकर कहा, तेरी बेटी मर गई: गुरु को दु:ख न दे।  लूका 8:49
  •  (209) यीशु ने सुनकर उसे उत्तर दिया, मत डर; केवल विश्वास रख; तो वह बच जाएगी। लूका 8:50
  • (210) घर में आकर उस ने पतरस और यूहन्ना और याकूब और लड़की के माता-पिता को छोड़ और किसी को अपने साथ भीतर आने न दिया।  लूका 8:51

विश्वास

  •  (211) और सब उसके लिये रो पीट रहे थे, परन्तु उस ने कहा; रोओ मत; वह मरी नहीं परन्तु सो रही है।  लूका 8:52
  •  (212) वे यह जानकर, कि मर गई है, उस की हंसी करने लगे।  लूका 8:53
  •  (213) परन्तु उस ने उसका हाथ पकड़ा, और पुकारकर कहा, हे लड़की उठ!  लूका 8:54
  •  (214) तब उसके प्राण फिर आए और वह तुरन्त उठी; फिर उस ने आज्ञा दी, कि उसे कुछ खाने को दिया जाए। लूका 8:55
  •  (215) उसके माता-पिता चकित हुए, परन्तु उस ने उन्हें चिताया, कि यह जो हुआ है, किसी से न कहना॥ लूका 8:56

बाइबिल से 431 “धन्य” वचन | 400 plus Blessing verses from the bible

100 Great Quotes About Success | Best Quotes By Robin Sharma

90 Plus Quotes for Effective and Successful Daily Life

60 Plus Amazing Good Morning Inspirational Quotes

https://yeshuafoundation.in/

About The Author

Scroll to Top