Bible Study (Hindi)

मध्यम प्रश्न (बाइबिल प्रश्नोत्तरी) Medium Questions For Teenager | 20+ Bible Quiz In Hindi

मध्यम प्रश्न (बाइबिल प्रश्नोत्तरी) Medium Questions For Teenager | 20+ Bible Quiz In Hindi

प्रभु के प्रियो, नमस्कार। इस लेख में आप बाइबल के प्रश्न और उत्तर पढ़ने पायेंगे, जिनके द्वारा आप बाइबल का सामान्य ज्ञान बढ़ा सकते हैं। मध्यम प्रश्न (बाइबिल प्रश्नोत्तरी) 20+ Bible Quiz In Hindi। मध्यम प्रश्न (बाइबिल प्रश्नोत्तरी) Hindi Bible Quiz-2 आप इस लेख पर आधारित हमारे यूट्यूब वीडियो को भी अवश्य देखिये।

बाइबिल प्रश्नोत्तरी: 25 Bible Quiz in Hindi

बाइबिल प्रश्नोत्तरी: 25 Bible Quiz in Hindi

बाइबिल प्रश्नोत्तरी: 25 Bible Quiz in Hindi। आसान प्रश्नों की एक यात्रा (बाइबिल प्रश्नोत्तरी) बच्चों के लिये छोटे-छोटे सवालों और जवाबों का लेख बहुत अच्छा हो सकता है, अपने बच्चों को इन छुट्टिओं में बाइबल की शिक्षा के लिये इन 25 आसान से सवालों को इस्तेमाल कीजिये। यूट्यूब पर इन का वीडियो भी अवश्य देखिये।

परमेश्वर के साथ आगे बढ़ो। Parmeshwar Ke Sath-Sath

परमेश्वर के साथ आगे बढ़ो। Parmeshwar Ke Sath-Sath

परमेश्वर के साथ आगे बढ़ो। समय-समय पर हम प्रार्थना से संबंधित अपने कार्यों में शामिल हो जाते हैं। कभी-कभी, हम इतनी लंबी, उद्दाम, या फालतू की याचना करने का प्रयास करते हैं कि हम इस तरह से ध्यान केंद्रित करने की उपेक्षा करते हैं कि अनुरोध केवल ईश्वर के साथ एक चर्चा है। हमारे अनुरोध की लंबाई या हंगामा या अभिव्यक्ति मुद्दा नहीं है। परमेश्वर से याचना करने के मुख्य महत्वपूर्ण घटक हमारी आत्माओं की वास्तविकता और निश्चितता है कि परमेश्वर सुनता है और हमें जवाब देगा। साथ साथ, परमेश्वर के साथ आगे बढ़ो। Parmeshwar Ke Sath-Sath

यीशु मसीह की सेवा का उदाहरण (Example of Jesus Christ's Service)-Yeeshu Ki Sewa

यीशु मसीह की सेवा का उदाहरण (Example of Jesus Christ’s Service)-Yeeshu Ki Sewa

हमारा उदाहरण-हमारे प्रभु यीशु मसीह इस दुनिया में मनुष्य की आवश्यकता के लिए, बिना थके हुये दास के रूप में आए। उसने “हमारी दुर्बलताओं को ले लिया, और हमारे रोगों को दूर किया,” कि वह मानवजाति की हर आवश्यकता की सेवा कर सके। मत्ती 8:17. यीशु मसीह की सेवा का उदाहरण (Example of Jesus Christ’s Service)-Yeeshu Ki Sewa

यीशु मसीह की सेवकाई के दिन और चंगाई व आशीषों की बहुतायत। (Yeeshu Masih Ki Sevkayi Aur Changaayi Ki Aashishen) 

यीशु मसीह की सेवकाई के दिन और चंगाई व आशीषों की बहुतायत। (Yeeshu Masih Ki Sevkayi Aur Changaayi Ki Aashishen) 

यीशु मसीह की सेवकाई के दिन और चंगाई व आशीषों की बहुतायत। (Yeeshu Masih Ki Sevkayi Aur Changaayi Ki Aashishen) 

प्रकृति के साथ और ईश्वर के साथ एकता  (Unity with Nature and with God)

प्रकृति के साथ और ईश्वर के साथ एकता  (Unity with Nature and with God)

पृथ्वी पर उद्धारकर्ता का जीवन प्रकृति और ईश्वर के साथ एकता का जीवन था। इस भोज में, उन्होंने हमारे लिए शक्ति के जीवन का रहस्य प्रकट किया। प्रकृति के साथ और ईश्वर के साथ एकता (Unity with Nature and with God)

परमेश्वर का धन्यवाद करो | Give Thanks to God

परमेश्वर का धन्यवाद करो (Give Thanks to God) भजन संहिता 142:7

परमेश्वर का धन्यवाद करो (Give Thanks to God) भजन संहिता 142:7 Give Thanks to God. परमेश्वर का धन्यवाद करो (Give Thanks to God) भजन संहिता 142:7, क्योंकि वह भला है, और उसकी करूणा सदा की है।  जो ईश्वरों का परमेश्वर है, उसका धन्यवाद करो, उसकी करूणा सदा की है। जो प्रभुओं का प्रभु है, उसका …

परमेश्वर का धन्यवाद करो (Give Thanks to God) भजन संहिता 142:7 Read More »

पवित्र आत्मा कौन है? (Who is the Holy Spirit?)

पवित्र आत्मा कौन है? (Who is the Holy Spirit?)

पवित्र आत्मा कौन है? (Who is the Holy Spirit?) पवित्र आत्मा कौन है? (Who is the Holy Spirit?) आत्मा कौन है ? पवित्र आत्मा की दिव्यता क्या है? पवित्र आत्मा के प्रतीक क्या हैं? इन से संबन्धित बाइबल पद को हम इस लेख में पढ़ेंगे, और समझेंगे कि परमेश्वर वास्तव में पवित्र आत्मा के रूप में हमारे बीच …

पवित्र आत्मा कौन है? (Who is the Holy Spirit?) Read More »

यीशु के शब्द आत्मिक जीवन हैं। अपने चुंबक को सकारात्मक रूप से चार्ज करें। शब्द आत्मा और जीवन हैं: परमेश्वर के राज्य की भाषा बोलना शुरू कीजिये। (Speaking Kingdom Language)

यीशु के शब्द आत्मिक जीवन हैं। अपने चुंबक को सकारात्मक रूप से चार्ज करें। शब्द आत्मा और जीवन हैं: परमेश्वर के राज्य की भाषा बोलना शुरू कीजिये। (Speaking Kingdom Language)   

यीशु के शब्द आत्मिक जीवन हैं। अपने चुंबक को सकारात्मक रूप से चार्ज करें। शब्द आत्मा और जीवन हैं: परमेश्वर के राज्य की भाषा बोलना शुरू कीजिये। (Speaking Kingdom Language)   परमेश्वर के सिद्धांतों को लागू करने और उन्हें अपने काम में लाने के लिए, आपको परमेश्वर के वचन पर मनन करने के लिए समय देना चाहिए। यीशु …

यीशु के शब्द आत्मिक जीवन हैं। अपने चुंबक को सकारात्मक रूप से चार्ज करें। शब्द आत्मा और जीवन हैं: परमेश्वर के राज्य की भाषा बोलना शुरू कीजिये। (Speaking Kingdom Language)    Read More »

Our Source of Supply

Our Source of Supply 

Our Source of Supply. Whosoever cometh to me, and heareth my sayings, and doeth them, I will shew you to whom he is like. (Luke 6:47). Jesus said that a man who cometh to me, and heareth my sayings, and doeth them digs deep and lays the foundation of his life on a rock, which is the Word of God. He bases his doings on what God’s Word says and not on the world system. 

Scroll to Top