सफलता के 10 प्रमुख राज (principles of success)

सफलता के 10 प्रमुख राज (PRINCIPLES OF SUCCESS)

सफलता के 10 प्रमुख राज (PRINCIPLES OF SUCCESS)

सफलता के 10 प्रमुख राज  (PRINCIPLES OF SUCCESS) ; पॉल एनेंशे एमडी द्वारा लिखित बेहतरीन पुस्तक से मैं स्वयं आत्मिक और बौद्धिक रूप से आशिषित हुई हूँ, इसलिये इस पुस्तक का सार संक्षेप में यहाँ प्रस्तुत कर रही हूँ। अगर आपको अच्छी इंग्लिश (English) आती है तो आप इस पुस्तक को अमज़ोन से खरीद कर अवश्य पढ़िये, मेरी इंग्लिश अच्छी नहीं है, फिर भी मैंने जो इस पुस्तक से सीखा है, वो कुछ इस प्रकार है 10 Principal Secrets Of Principal People  

Optimal health - most important for success - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

जीवन के 10 सिद्धांत, जो हमें बुद्धिमान बनातें हैं (Ten Basic Channels Of Wisdom)

  • (1) प्रेरणा स्त्रोत 
  • (2) ध्यान
  • (3) न्यायिक जांच
  • (4) दर्शन / विजन
  • (5) निराशा
  • (6) संगति
  • (7) अनुदेश
  • (9) अवलोकन
  • (10) सोचने की शक्ति
Optimal health - henry ford - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

बुद्धिमत्ता से पुरुष के हौसले में निखार आता है।

यह भेद का रहस्य है। बुद्धि के प्रायोजक शोषण या पराक्रमी काम करते हैं; यह उत्कृष्ट परिणाम देता है। ” पुस्तक में, “BE WISE AND RISE”, जिस पर यह पुस्तक अगली कड़ी है, यह नोट किया गया कि ज्ञान का महत्वपूर्ण महत्व है: बुद्धि जीवन को लम्बा खींचती है, और मूर्खता शीघ्र मृत्यु की सुविधा देती है।

Optimal health - jack kenfeild - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

बुद्धिमत्ता से पुरुष की शालीनता की निर्भीकता बढ़ती है।

यह भेद का रहस्य है। बुद्धि के प्रायोजक शोषण या पराक्रमी काम करते हैं; यह उत्कृष्ट परिणाम देता है। युद्ध के हथियारों से ज्ञान बेहतर है। यह शारीरिक शक्ति से बेहतर है। बुद्धि ने पहाड़ों को उखाड़ फेंका। ईश्वर के राज्य की प्रधानताएं अंधेरे के राज्य की प्राथमिकताओं से अधिक मजबूत हैं, क्योंकि, प्रकाश अंधेरे में चमकता है और अंधेरा इसे समझ नहीं सकता है। बहुत महत्वपूर्ण है।

याकूब, यूसुफ और डैनियल सभी ज्ञान-निर्मित थे।

इससे पता चलता है कि ज्ञान कितना महत्वपूर्ण है। डैनियल को पवित्र आत्मा से भरा ज्ञान का आदमी कहा जाता था। प्रकाश और समझ उनमें थी। डैनियल ने बाबुल की सभी पहेलियों नबूकदनेस्सर की सभी पहेलियों, और बेलशेज़र की सभी पहेलियों को ईश्वर की बुद्धि से भंग कर दिया था। पीटर ने पॉल का जिक्र करते हुए कहा कि उन्हें ईश्वर ने कुछ चीजें लिखने के लिए ज्ञान दिया था। कुछ लोगों को समझना बहुत मुश्किल था (2 Peter 3: 15,16)।

यीशु मसीह स्वयं ज्ञान का अवतार है (1 Corinthians 1: 24, 30)।

प्रिय, इस दुनिया में अपनी पहचान बनाने के लिए, आपको परमेश्वर के ज्ञान की आवश्यकता है। कठिनाइयों और असंभवताओं में दफन नहीं होने के लिए, आपको ईश्वर के ज्ञान की आवश्यकता है। आपको अपनी पीढ़ी के ध्यान को खड़ा करने और आदेश देने के लिए भगवान के ज्ञान की आवश्यकता है। आपको ईश्वर के तरीकों में आगे बढ़ने के लिए ईश्वर के ज्ञान की आवश्यकता है। जिन प्रमुख तरीकों से ज्ञान का संचालन होता है, वे बनाने के पीछे प्रमुख रहस्य हैं प्रमुख लोग। लेकिन क्या वे तरीके हैं जो ज्ञान का कारण बनते हैं? यह इस पुस्तक का केंद्र है यह ज्ञान के दस तरीके या चैनल हैं जिन्हें यहां माना जाएगा:

Optimal health - success2 1604136993 1 edited - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

प्रधान लोगों के 10 प्रमुख राज (PRINCIPLES OF SUCCESS)

Optimal health - quote alberteinstein 1601722215 edited - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

(1) प्रेरणा (Inspiration) का तरीका: प्रेरणा ज्ञान को जन्म देती है।

प्रेरणा अंदरूनी होनी चाहिये, बाहर की प्रेरणा से दवाब मिलता है, जबकि अंदरूनी प्रेरणा कार्य के प्रति उत्साह से भर देती है। अंदरूनी प्रेरणा मानों, एक गुब्बारे में भरी हुई हवा की मानिंद है, जो स्वतः ही ऊपर उठाती है;  बाहरी प्रेरणा मजबूरी है, बोझ है, मन मार कर काम करना बेकार का तनाव उत्पन्न करता है।

Optimal health - safalta - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

(2) ध्यान (Meditation) का तरीका: विचार करें, सोचें, अंतर्दृष्टि से देखें।

यहोशू 1: 8 कहता है, “कानून की यह पुस्तक तेरे मुंह से निकल जाएगी; लेकिन आप उस दिन और रात में ध्यान कर सकते हैं, कि तू उस सब के अनुसार करने के लिए देख सकता है जो उसमें लिखा गया है: क्योंकि तू अपने रास्ते को समृद्ध बना देगा, और फिर आपको अच्छी सफलता मिल जाएगी।

(3) जांच का तरीका (INQUISITION) का तरीका: डैनियल ने एक कण के बारे में परमेश्वर से पूछा ।

डैनियल ने एक विशेष रहस्य के बारे में प्रभु से पूछताछ की और यह एक रात के समय उसके दर्शन के रूप में उनके सामने आया।

Optimal health - jeevan mantra6 1608202644 edited - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

(4) दर्शन का तरीका (Darshan / Vision): दृष्टि के लोग ज्ञान के लोग हैं।

जिनके पास उचित, लिखित, और स्पष्ट लक्ष्य होता है, वो कामयाब होते हैं। उद्देश्य लेकर चलने वाले लोग बुद्दिमान और ज्ञान वान होते  हैं। लक्ष्यहीन व्यक्ति ‘बुद्धिहीन’ व्यक्ति होता है। इसलिए, हमें दूर की दृष्टि और स्पष्ट उद्देश्य वाला जीवन का ज्ञान अवश्य होना चाहिये ।

(5) निराशा का तरीका (Way of Desperation):

हताशा, दबाव-इच्छा, एक व्यक्ति को ज्ञान की तह में ले जाती है। जो आपकी इच्छा नहीं है, आप योग्य नहीं हैं, फिर भी आप किसी चीज़ की खोज में लगे रहेंगे । कभी कभी जीवन की निराशा, और भावुकता हमें सफलता के लिये प्रेरित करती है।

(6) एसोसिएशन (Association): जुड़ना, संगति करना, मेलमिलाप रखना। (To join, to associate, to reconcile)

नीतिवचन 13:20 कहता है, “जो बुद्धिमानों के साथ चलता है वह बुद्धिमान होगा:…” आपकी संगति आपके विवेक को प्रभावित करती है। आपकी एसोसिएशन आपकी निर्णय लेने की क्षमता को प्रभावित करती है। आपकी संगति आपके ज्ञान को प्रभावित करती है। आप मुझे अपना दोस्त दिखाते हैं, मैं आपको दिखाऊंगा कि आप कितने बुद्धिमान हैं।

(7) निर्देश (Instruction): गाइड और सीख ग्रहण करना (To guide and learn)

सीखें और निर्देश प्राप्त करें । सफलता पाने के लिये सीखना जरूरी है। पुस्तकों, वीडियो, औडियो, और ट्रेनिंग द्वारा सीखते रहना चाहिये। हारता वह है, जो सीखना बंद कर देता है।

(8) अवलोकन (Observation) निरीक्षण करना:

सुलैमान ने ज्ञान का अध्ययन किया, “चींटी को देखो, अपने जीवन के लिये कितना अधिक प्रयासरत रहती है, आप जानवरों को देखिये, अपने अपने भोजन के लिये वो निरंतर कार्य करते रहते हैं, उसके तरीकों का निरीक्षण करें और बुद्धिमान रहें” (नीतिवचन 6: 6-8)। तो, अवलोकन ज्ञान का एक रहस्य है।

Optimal health - aaj ka jeevan mantra 16 august 1629011300 edited - optimal health - health is true wealth.
सफलता के 10 प्रमुख राज (Principles Of Success)

(9) कार्रवाई (Action):

आपकी कार्रवाई आपके ज्ञान को निर्धारित करती है। ज्ञान अर्जित करना, बहुत सारी डिग्री लेना, सारे संसार की जांकारियाँ रखना, काफी नहीं हैं, अगर वो कार्य रूप में उपयोगी ना हों तो। बिना कार्य किये यूं ही जय जय कार नहीं होती। अपने भविष्य, अपने सपनों के लिये कार्य करना ही पड़ेगा।

(10) निषेध (Im-partation) एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के गुण का हस्तांतरण होता है।

बाइबिल व्यवस्था विवरण की किताब में 34:9 में कहता है, कि यहोशू ज्ञान की भावना से भरा था क्योंकि मूसा ने उसके ऊपर हाथ रखे थे तो, हाथों पर बि छाने से, एक आदमी जो भी वह आपको ले जाता है उसे स्थानांतरित कर सकता है। यही कारण है कि आपको इस बात के बारे में सावधान रहना होगा कि आप पर कौन हाथ रखता है; क्योंकि सकारात्मक और नकारात्मक दोनों चीजों को स्थानांतरित किया जा सकता है।

तो दोस्तो ये, वो ज्ञान के दस बुनियादी तरीके, पहलू, चैनल हैं, जिनसे हम आसानी से सफलता तक पहुँच सकते हैं। मेरा मानना है कि, इस पुस्तक के माध्यम से, ईश्वर आपको अपने जीवन के अगले स्तर में ले जाएगा, अलौकिक जीवन का दायरा से: पॉलेंस एमडी द्वारा “प्रिंसिपल पीपल के 10 प्रिंसिपल सीक्रेट्स”।

Scroll to Top